Thursday, 13 September 2018

पापों का परिणाम जनता,


पापों का  परिणाम जानता, व्यक्ति मृत्यु से  है  घवड़ाता ,
 व्याकुल हो  डरता रहता है, इसीलिये  हर  क्षण पछताता.
 धर्म, कर्म, सत्संग करोगे, तो भविष्य  भी  होगा उज्ज्वल,
 यदि यह हो विश्वास हृदय में, स्वर्ग,मोक्ष ही वह नर पाता.