Wednesday, 18 April 2018

कुछ बातें हैं काम की, इनको करिये रोज

कुछ बातें हैं काम की, इनको करिये रोज,
उसका फल फिर देखिये, आप मनाएं मौज.
 स्वच्छ वस्त्र पहिनो सदा, आसन भी हो स्वच्छ,
बस सुगन्ध हो पास में, स्वच्छ सदा हो कक्ष.
 बच्चों के संग खेलिए, इतना रखिये ध्यान,
उन्हें जिताओ हार कर, सदा बढ़ेगा मान.
 कभी दीन के संग भी, भोजन हो स्वीकार,
आप आत्म सुख पायगें, बहे नेह की धार.
 जमा समय से बिल करो, रहो समय पाबन्द,
पाँच मिनट आगे घड़ी- रखो, रहो सानन्द.