Saturday, 14 April 2018

वे दोनों तो ऐक हैं, क्या रहीम क्या राम

वे दोनों तो ऐक हैं, क्या रहीम क्या राम,
 हम में ही दुर्बुद्धि है, इसीलिये कुहराम l
 मिटटी की यह देह है, सब में ज्योति समान,
 क्या हिन्दू, क्या मुसलमा, क्यों होते हैरान l