Saturday, 17 March 2018

नहीं अर्थ इसका कुछ होता, मैंने कितना खाया

नहीं अर्थ इसका कुछ होता, मैंने कितना खाया,
सार्थक यह माना जायेगा, कितना गया पचाया l
यह महत्व की बात नही है, कितना यहाँ कमाया,
इसका यहाँ महत्व अधिक है, सच में क्या बच पाया l
महत्व पूर्ण यह नहीं कि जीवन, कितना बीत गया है,
महत्व पूर्ण यह ही होता है, कैसे जिया गया है l