Sunday, 15 January 2017

नेह से नाता रहा मनमीत का

नेह से नाता रहा मनमीत का ,
सद भाव से नाता रहा 
प्रीत का 
गीतकारो ने सदा से यहकहा ,
दर्द का रिश्ता पुराना गीत का .

डॉ. हरिमोहन गुप्त