Tuesday, 8 May 2018

तिमिर स्वयम छटता जाता है,


तिमिर स्वयम छटता जाता है, पा कर पुंज प्रकाश.
 जटिल प्रश्न तक हल हो जाते, लेकर द्दढ विश्वास l
 विषम और गम्भीर परिस्थिति माप दण्ड है सच के,
 जीवन में द्दढ संकल्पों से, होता बुद्धि विकास