Thursday, 10 May 2018

चन्दन हर पोधा महकाये जो समीप है,

चन्दन हर पोधा महकाये जो समीप है,
 जग को जो आलोकित कर दे वही दीप है l
 पत्थर चोट सहे, पर फल दें वृक्ष यहाँ पर,
 पानी पी कर मोती उगले वही सीप है